भगवान के फरिश्ते सोनू सूद ने बाढ़ में तबाह महिला के लिए बनवाया छोटा आशियाना, जानिए पूरी खबर

gif;base64,R0lGODdhAQABAPAAAMPDwwAAACwAAAAAAQABAAACAkQBADs=

कहते हैं कि अगर भगवान को किसी ने नहीं देखा है तो 2020 करोना काल में सोनू सूद को देख लीजिए, इस महामारी के दौर में सोनू सूद किसी फरिश्ते से कम नहीं।जो पर्दे पर विलेन का किरदार निभाते हैं उन्होंने असल जिंदगी में एक असली हीरो का किरदार निभाया,करोना महामारी के दौरान जो लोग अपने घर से दूर थे उन लोगों को उनके घर तक पहुंचाने का बीड़ा सोनू सूद और उनकी टीम ने उठाया था। हाल ही में मिली जानकारी के दौरान पता चला, बारिश की वजह से एक विधवा महिला का घर पूरी तरह तबाह हो गया वह तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही थी जो कैसे भी करके सोनू सूद तक पहुंची, सोनू सूद ने तस्वीरें देखने के तुरंत बाद उस महिला की जांच पड़ताल शुरू कर दी जब उन्हें पता चला उन्होंने इस महिला के लिए एक आशियाना बनवा दिया जिसका नाम सोनू  निवास रखा गया।

एक यूजर ने सोनू सूद की मदद के दौरान की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की जो अब पूरे देश भर में तेजी से वायरल हो रही हैं।जिस शख्स ने यह तस्वीरें शेयर कि उसने कैप्शन में लिखा ‘ कि मैंने भगवान को तो नहीं देखा है लेकिन आप मेरी जीवन में भगवान के दूत बनकर आए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद ‘ ।

सोनू सूद को इस बात के लिए ट्रिब्यूट दिया गया लेकिन यह ट्रिब्यूट सोनू सूद के लिए पहली बार नहीं था इससे पहले भी उन्होंने विदेशों में फंसे स्टूडेंट अपने घर से दूर किसानों को उनके घर तक पहुंचाया।इस मदद के लिए धन्यवाद स्वरूप उनके फैंस ने उनके लिए सोशल मीडिया पर ट्रिब्यूट पेश किया। एक फैंस ने तो ट्रिब्यूट के दौरान अपने बच्चे का नाम सोनू सूद ही रख दिया।हाल फिलहाल में एक आदिवासी बच्ची अपने घर से दूर हो गई थी उसका घर तबाह हो गया था उस बच्ची की दशा देखकर सोनू सूद ने उससे वादा किया कि वह उसकी मदद करेंगे।

कोरोना महामारी के दौरान सोनू सूद ने अपने फैंस के लिए किए कुछ अतरंगी काम :- 

1- सोनू सूद मदद के मसीहा के नाम से जाने जाते हैं जितना नाम उन्होंने बॉलीवुड इंडस्ट्री में नहीं कमाया उससे ज्यादा उन्होंने इस महामारी के दौरान कमाया।सोनू सूद को एक फैन ने ट्विटर के दौरान कहा कि वह एक भैंस खरीदना चाहते हैं जिसके लिए उनके पास पैसे नहीं हैं,फिर क्या था सोनू सूद से उसने इस बात की गुजारिश की और सोनू सूद ने अपने फैंस के लिए भैंस खरीदी सोनू सूद ने कहा, ‘यह तुम्हारे लिए भैंस खरीदना मेरी पहली कार खरीदने से भी ज्यादा एक्साइटेड है। और कहां जब मैं बिहार आऊंगा तो तुम्हारी भैंस का दूध जरूर पियूंगा।

2- इस महामारी के दौरान सोनू सूद ने कई लोगों को उनके घर तक पहुंचाया,इन सब को देखकर एक फ्रेंड एक अजीब सी दिमाग सोनू सूद के सामने रख दी उसने कहा कि मैं चांद पर जाना चाहता हूं क्या आप मुझे चांद पर लेकर जाएंगे।यह ट्वीट देखने के बाद सोनू सूद ने भी ट्वीट कर उस शख्स से कहा में चांद तक तो तुम्हें पहुंचा सकता हूं लेकिन वहां से आने की जिम्मेदारी मेरी नहीं है।

3- अभी कुछ वक्त पहले सोनू सूद को एक किसान ने जानकारी दी कि कि उसको अपनी बेटियां पढ़ाने के लिए पैसे नहीं है महामारी के दौरान उसका कारोबार नहीं चला उसने सोनू सूद से मदद की गुहार लगाई और सोनू सूद ने उस तक मदद का हाथ बढ़ाया और उसकी बेटियों की फीस भरी साथ ही साथ कहा कि अगर आगे कभी जीवन में परेशानी हो तो मुझे याद जरूर करना।

4-प्रवासी रोजगार को सोनू सूद ने घर तक पहुंचाने का तो काम किया ही था साथ ही साथ उन्होंने इन मजदूरों के लिए एक स्कीम निकाली कि वह जब लौट कर आएंगे तो उनके लिए रोजगार जरूर मिलेगा। जानकारी के लिए आपको बता दें अब तक 58 मजदूरों को इस रोजगार योजना के दौरान रोजगार मिल चुका है।

जानकारी के मुताबिक सोनू सूद ने बताया था कि उनके पास 1 दिन में लगभग 41000 लोग मदद की गुहार लगाते हैं, सोनू सूद से मदद मांगने के लिए उनकी टीम ने एक टोल फ्री नंबर जारी किया है, साथ ही साथ उनके ईमेल उनके ट्विटर अकाउंट पर लोग उन्हें टैग करके मदद के लिए कहते हैं। सोनू सूद ने जानकारी दी लगभग 1137 ईमेल, 19000 लोगों ने फेसबुक पर मदद मांगी, 4812 ने इंस्टाग्राम पर, 6741 ने ट्विटर के जरिए उनसे गुहार लगाईं।

इन सब बातों में कुछ ऐसे किस्से भी सामने आते हैं जो काफी मजेदार होते हैं लोग अपने पिता के श्राद्ध के लिए पैसे भी सोनू सूद से मांग रहे हैं।और सोनू सूद इन चीजों पर इंकार नहीं करते बल्कि मदद के लिए हाथ बढ़ाते हैं वह सामने से कहते हैं कि आप अपनी जानकारी मुझे दें मैं जिस तरीके से हो सकेगा उस तरीके से आप लोगों तक मदद पहुंचा हूं गा पहुंचाऊंगा।