विद्युत जामवाल की ‘खुदा हाफिज’ ने दिलाई उन्हें कैरियर की सबसे बड़ी ओपनिंग

gif;base64,R0lGODdhAQABAPAAAMPDwwAAACwAAAAAAQABAAACAkQBADs=

शुक्रवार,14 अगस्त को विद्युत जामवाल की फिल्म ओटीटी  पर रिलीज हुई थी। और ओटीटी  पर इसने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया, विद्युत जामवाल के करियर की यह सबसे बड़ी ओपनिंग रही। इस कामयाबी का जश्न उन्होंने अपने फैंस के साथ मनाया। उन्होंने इसका श्रेय अपने प्रशंसकों और अपनी टीम को दिया। बॉलीवुड इंडस्ट्री में विद्युत जामवाल लगभग 10 साल से हैं। लेकिन अभी तक उन्हें वह पहचान नहीं मिली जिसके वह हकदार हैं। उन्होंने अपनी छवि एक कमांडर के रूप में बना रखी है । वह अक्सर एक्शन फिल्मों में नजर आते हैं।

विद्युत जामवाल इस फिल्म में समीर नामक लड़की का किरदार निभा रहे हैं, यह किरदार उनके लिए चुनौतीपूर्ण था।विद्युत जामवाल का कहना है इस किरदार से उन्होंने अपने आप को बहुत निखारा और बहुत कुछ सीखा।

फिल्म की कहानी पर चर्चा :-

यह कहानी एक शादीशुदा जोड़े की कहानी है जिसमें समीर और नरगिस हैं, समीर का किरदार ‘विद्युत जामवाल’ निभा रहे हैं वहीं नरगिस का किरदार ‘शिवालिका ओबेरॉय’ निभा रही हैं।यह कहानी शुरू होती है जब देश में बेरोजगारी होती है तब समीर की पत्नी नरगिस विदेश रोजगार के लिए चली जाती हैं। और वहां धोखाधड़ी का शिकार हो जाती हैं काम के नाम पर कोई उन्हें धोखा देता  है। फिर समीर अपनी पत्नी नरगिस को विदेश से वापस ले जाने के लिए विदेश जाते हैं।

इस फिल्म के निर्देशक’फारुख कबीर’है। विद्युत जामवाल और शिवालिका ओबेरॉय के अलावा इस फिल्म में अनु कपूर, अहाना कुमार, शिव पंडित मुख्य किरदार में नजर आएंगे। इस फिल्म को दिखाने का खास कारण विदेशों में हो रही धोखाधड़ी को दिखाना साथ ही साथ जिस्म का कारोबार करने वाले कारोबारियों का पर्दाफाश करना है।विद्युत जामवाल इसमें भी एक्शन करते नजर आएंगे लेकिन इसमें उनके किरदार का एक अलग रूप देखने को मिला। जानकारी के लिए आपको बता दें इस फिल्म के निर्देशक ‘फारुख कबीर’विद्युत जामवाल के काफी अच्छे दोस्त हैं, उन्होंने बताया कि फिल्मी दुनिया में अक्सर दोस्ती केवल फिल्म तक ही रहती है , लेकिन विद्युत जामवाल बाकी सब से अलग है वह अभी तक मेरे साथ है।